राजस्थान में चपरासी के 18 पदों के लिए 12000 आवेदन आए हैं जिसमें से एक विधायक के बेटे का आवेदन भी सामने आया है। राजस्थान के जामवा रामगढ़ के विधायक जगदीश मीणा रामगढ़ से विधायक हैं उनके बेटे रामकृष्ण मीणा ने भी चपरासी के पद के लिए आवेदन किया है। लिस्ट में उनका बेटा 12 वें नंबर पर है।

यह नाम सामने आते ही कांग्रेस ने उनके चयन में भेदभाव का आरोप लगाना शुरू कर दिया है जबकि बीजेपी विधायक आरोपों को गलत ठहरा रहे हैं।

दरअसल ये पहली बार नहीं है कि सत्ताधारी दल के विधायक का बेटा उस सदन में चपरासी की नौकरी के लिये चुना गया हो जिस सदन के लिये उसके पिता को जनता ने चुना है। पिछले साल नेवाई के विधायक के बेटे का नाम भी इस लिस्ट में आया था। उस समय भी कई तरह के सवाल उठे थे।

विधायकों को बेटों का चपरासी पद के लिए आवेदन और उनमें अपनाई जा रही चयन की प्रक्रिया कितनी सही ये तो जांच का विषय है और साथ में हैरान करने वाला भी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *